अमानक वर्ण

अमानक वर्ण  Hindi grammar questions for competitive exam part-5




1  शुद्ध वर्तनी    2 . अमानक वर्ण 

 (i)  -शुद्ध वर्तनी ➨ बर्तन की शुद्ध " वर्तनी " क्या है ?
बर्तन का शुद्ध वर्तनी ➨ "बर्तन " का शुद्ध वर्तनी   "बरतन "है ∣

  (ii) . अमानक वर्ण - हिंदी में बहुत से ऐसे वर्ण हुआ करते थे ,जो की वर्तमान समय में चलन में नहीं है ,अथवा हिंदी के मूल वर्णो में शामिल नहीं है।  इस प्रकार के  सभी वर्ण " अमानक वर्णो " की श्रेणी में  आते हैं Ι
 अर्थात वे   " वर्ण " जो पूर्व में तो मान्य रहे हो ,परन्तु वर्तमान वर्णमाला के दृस्टीकोण   से मान्य न  होते हो , अमानक वर्ण है ।
अमानक वर्ण क्या है ➨ ऐसे वर्ण जिनका कोई " मानक " न हो , तथा जो सर्वमान्य न हो " अमानक " वर्ण है , अथवा ऐसे वर्ण जिनका पहले तो मानक रहा हो परन्तु वर्तमान समय में उनका कोई " मानक " न  हो अमानक वर्ण कहलाते है ।

अमानक वर्ण किसे  कहते है ➨ जब कोई वर्ण वर्तमान परिपेक्ष्य  के मानकों  पर खरा नहीं उतरता अथवा वर्तमान में स्वीकार वर्णमाला में शामिल न  हो , अथवा पूर्व में स्वी…

मानक वर्ण

मानक वर्ण

मानक वर्ण
मानक वर्ण


प्रश्न 1 - मानक वर्ण क्या है ?


उत्तर - वर्तमान समय में हिन्दी वर्णमाला के अंतरगर्त आने वाले वे सभी वर्ण जो कि स्वीकृत है ,मान्य है। मानक वर्ण कहलाते है। 

दूसरे शब्दों में ऐसे वर्ण जो कि हिन्दी वर्णमाला के अनुसार शुद्ध है ,सही है अथवा जिनका मानक है। वे सभी वर्ण मानक वर्ण है। 



प्रश्न 2- अगर वर्तमान हिन्दी वर्णमाला के सभी वर्ण मानक है। तो प्रश्न यह उठता है ,कि यह मानक शब्द आया ही क्यों और किसलिए ?



उत्तर - वर्ष 1983 में केंद्रीय हिन्दी निदेशालय ने " देवनागिरी लिपि तथा हिन्दी वर्तनी का मानकीकरण " नाम की पुस्तक का प्रकाशन किया। 

इसके अंतरगर्त "हिन्दी वर्णमाला" में कुछ परिवर्तन किये गए। आप आज जो हिन्दी वर्णमाला देख रहे है ,वह उस नियमनुसार परिवर्तित वर्णमाला है। 

अर्थात आप आज जो हिन्दी की वर्णमाला देख रहे  है। वह इस नियम से पहले ऐसी नहीं थी। 



प्रश्न 3 - अब प्रश्न यह उठता है ,कि "मानकीकरण " के नियम में कौन - कौन से परिवर्तन किये गए थे ?



 उत्तर - वे सभी वर्ण जो कि मानकीकरण के नियम के तहत परिवर्तित हुए वे इस प्रकार है। 

(1) खड़ी पायी नियम - ऐसे व्यंजन जो कि " खड़ी पायी " वाले है। जैसे कि - ख ,ग ,घ ,च ,ज ,ण आदि को जब भी सयुक्त रूप से लिखा जाएगा अर्थात में अन्य व्यंजनों के साथ में लिखा जाएगा। तब इनकी खड़ी पायी को हटा दिया जाएगा। 


मानक वर्ण कौन सा है
मानक वर्ण कौन सा है



खड़ी पायी को हटाने के बाद शब्दों को इस प्रकार से बनाया जाएगा। 

ख - ख्याति 
ग - लग्न 
घ - विघ्न 
च - बच्चा 
ज - छज्जा 
ण - नगण्य 
  इसी तरह अन्य व्यंजनों की खड़ी पायी को हटाकर जो वर्तमान समय में शब्द बनाये जाते है। वे सभी इसी के अंतरगर्त आते है। 

  2 - क और फ के लिए सयुक्ताक्षर का नियम के अनुसार इन्हे आधा लिखा जाएगा। इस प्रकार - 

क - संयुक्त 
फ - दफ़्तर 

 दोस्तों , इसी प्रकार बहुत से अन्य परिवर्तन किये गए हिन्दी वर्णमाला में। अर्थात आज जो हम हिन्दी वर्णमाला का स्वरुप देख रहे है ,वह इस मानकीकरण के नियम के बाद का स्वरुप है।  

परन्तु सभी के बारे में जानना ,समझना या याद करना समय की बर्बादी होगी। कियोकि इस तरह के प्रश्न किसी भी परीक्षा में नहीं पूछे जाते है। 

आपको सिर्फ वर्तमान की हिन्दी को ही समझना अथवा याद करना चाहिए ,कियोकि आपके सभी प्रश्न उसी में से आते है। 

फिर भी यदि आपकी request आती है ,तो हम इसके लिए अलग से एक लेख द्वारा विस्तृत वर्णन अवश्य देंगे। 


प्रश्न 4 - मानक वर्ण कौन सा है अथवा मानक वर्ण किसे कहते है ?



उत्तर - वे सभी वर्ण जो 1983 मानकीकरण नियम के अनुसार परिवर्तित होकर वर्तमान हिन्दी वर्णमाला में शामिल हुए है। मानक वर्ण कहलाते है। 

धन्यवाद 



Hindi mock test- part-1-click here

Hindi mock test- part-2-click here

Hindi mock test-part-3-click Here

Hindi mock test part-4-click Here

Hindi अमानक वर्ण  CLICK HERE



इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अमानक वर्ण

बाल विकास को प्रभावित करने वाले कारक pdf

sanskrit varnamala mock test