bal vikas notes for All tet exams

bal vikas notes for All tet exams


PART-10

(ctet/mptet/rtet/uptet/htet/b.ed/d.ed/m.ed)

bal vikas notes for All tet exams



न्यूमैन , फ्रीमैन और हॉलजिंगर ने - बालक पर  "वातावरण के  प्रभाव " को अध्ययन द्वारा और प्रयोग करके  स्पस्ट किया। 
(1 )  न्यूमैन , फ्रीमैन और हॉलजिंगर का प्रयोग -   इन्होने अपने  अध्ययन  के दौरान - 20 जोड़े जुड़वां बच्चो के ऊपर वातावरण सम्बन्धी यह प्रयोग किया।  इन्होने  बच्चो के दो अलग - अलग जोड़े बनाये, जिसमे इन्होने बच्चो के एक जोड़े को एक अलग वातावरण में तथा दूसरे जोड़े को एक अलग वातावरण में रखा। अर्थात इन्होने बच्चो के पहले  जोड़े को - गाँव में रखा , वही दूसरे जोड़े को शहर में रखा। 
समय बीतने के साथ जब - दोनों जोड़ो -के बच्चे बड़े हुए तो -" उन्होंने "  पाया कि उन बालको में व्यवहार संबधी बड़ा अंतर है। जो कि उनके वातावरण द्वारा उन्हें प्राप्त हुआ था। 

bal vikas notes for All tet exams

→ अंतर -    उन्होंने  जो उन बच्चो में अंतर पाया था वो यह था कि - 
→ गांव वाला बालक - अशिष्ट , चिंताग्रस्त , और बुद्धिमान था। 
bal vikas notes for All tet exams

→ वही दूसरी ओर - शहर का बालक - शिस्ट , चिंता से मुक्त ,  और अधिक बुद्धिमान था। 
bal vikas notes for All tet exams
विकास का वातावरण सम्बन्धी प्रभाव 
(2 )  शारीरिक दृस्टिकोड से -

→ पहाड़ी क्षेत्रों में रहने वाले लोगो का कद छोटा होता है। 
→ वही मैदानी क्षेत्रों में रहने वाले लोगो के शरीर लंबा होता है। 
→  इसके अलावा जो लोग अपना मूल जलवायु निवास छोड़कर कर कही दूसरे स्थान पर चले जाते है। और उस स्थान पर बस जाते है। तो कुछ पीडियों के बाद उनके परिवार में उस स्थान की जलवायु का प्रभाव (जहां वे वर्तमान में रहते है ) का भी आता है। 
→ व्यक्ति का वातावरण उसके शारीरिक विकास , मानसिक विकास , सामजिक विकास , सावेगात्मक विकास आदि सभी क्षेत्रों पर प्रभाव डालता है। जिसका सबसे अच्छा उदहारण " मोगली " है। 
(3 ) मोगली 
bal vikas notes for All tet exams
मोगली  से जुड़े तथ्य 
मोगली - मोगली की कहानी हम सभी ने सुनी है। मोगली की कहानी बहुत रोचक है और इस उदहारण को अधिक प्रभावी रूप में समझाने के लिए पर्याप्त है -कि - " व्यक्ति का वातावरण की उसके सम्पूर्ण विकास का घोतक होता है। "
→ मोगली की कहानी के ऊपर फिल्मायी गयी फिल्म का नाम - " THE JUNGLE BOOK " था। 
→ " THE JUNGLE BOOK " नाम फिल्म - सन - 2016 में रिलीज हुई थी। 
→ मोगली एरावन के जंगल का एक जंगली बालक था। 
→ मोगली को जन्म के बाद एक भेड़िया उठा ले गया था , जिसने मोगली को पाला था। 
→ सन - 1799 ईस्वी में - कुछ शिकारियों से मोगली को जंगल में पकड़ लिया था। 
→ उस समय उस बालक की उम्र लगभग - 11 वर्ष या १२ वर्ष थी। 
→ मोगली की आकृति पशुओं के समान ही हो गयी थी।  

bal vikas notes for All tet exams

→ वह बालक बिलकुल पशुओं के सामान चलता - फिरता था , और कच्चा मांस खाता था। 
→ उस बालक में मनुष्य के समान बोलने और विचार करने की शक्ति नहीं थी। 
→ मोगली को - मनुष्य के समान सभ्य और शिक्षित बनाने के लिए बहुत से प्रयास किये गए , परन्तु वे सभी तरह के प्रयास असफल साबित हुए। 
अतः उपरोक्त तथ्य के अनुसार हम कह सकते है , कि बालक के वातावरण का प्रभाव , बालक के वंशानुक्रम के प्रभाव के बाद सर्वाधिक होता है। 
(4 ) गॉडर्न के अनुसार -  मनोवैज्ञानिक "गॉडर्न " के अनुसार - " उचित सामाजिक और सांस्कृतिक वातावरण न मिलने पर मानसिक विकास की गति धीमी हो जाती है।  "
bal vikas notes for All tet exams

इसके लिए इन्होने एक प्रयोग किया था जिसमे इन्होने -  नदियों के किनारे रहने वाले उन  बालको का अध्ययन किया जिनका वातावरण गन्दा था , और पाया कि - इन बालको में समाज से दूर रहने के कारण  मानसिक  तौर पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है।  "
(5 ) वंशानुक्रम और वातावरण (एक - दूसरे के पूरक )
→ यदि बालक के पूर्वजो में - बालक के मामा पक्ष से अथवा चाचा के पक्ष से कोई व्यक्ति बुद्धिमान नहीं होता है , तो वह बालक - अच्छे से अच्छा " वातावरण मिलने पर भी - एक सीमा तक ही आगे बढ़ पायेगा। 
→ कभी - कभी हम देखते है कि - यदि बालक को अच्छे से अच्छा वातावरण मिल भी जाए , तब भी उन बालको में चोरी करना - , क्रूरता , आदि पायी जाती है। जिसका कारण - बालक का वंशानुक्रम होता है। 


bal vikas notes for All tet exams

कुल - मिलाकर उपरोक्त तथ्यों के आधार पर हम कह सकते है , कि - वंशानुक्रम और वातावरण  का बालक के विकास में समान योगदान होता है। अर्थात - बालक के वातावरण और वंशानुक्रम सम्बन्धी कारक एक दूसरे के पूरक होते है। जिनमे एक भी कारक का कम अथवा ज्यादा होना बालक के विकास को समान रूप से प्रभावित करता है। 
प्रश्न - उत्तर 
प्रश्न 1 - माता - पिता से बच्चो को प्राप्त होने वाले गुणों को क्या कहते है ?
उत्तर - माता - पिता से बच्चो को प्राप्त होने वाले गुणों को - "वंशानुक्रम " कहते है। 

bal vikas notes for All tet exams

प्रश्न 2 - "किसी भी विषय को रटना "  किस बालक का लक्षण नहीं होता है ?
उत्तर - किसी भी विषय को रट कर सुना देना - " बुद्धिमान बालक " लक्षण नहीं होता है। 

प्रश्न 3 - यदि हम दो जुड़वां बालको को दो अलग - अलग जगह पर रखते है। जिसमे एक बालक को - धर्म - संस्कृति , और संस्कार का वातावरण मिलता है , तो वही दूरी ओर दूसरे बच्चे को - अंधविश्वास एवं रूढ़िवाद का वतावरण मिलता है। तो दोनों बालको के बड़े होने पर उनके विचारो सर्वाधिक प्रभावित करने वाला कारक कौन सा होगा ?
bal vikas notes for All tet exams

उत्तर - इस स्थति में उन बालको को जो सर्वाधिक प्रभावित करने वाला कारक होगा वह - उनका "सांस्कृतिक कारक " होगा।  अर्थात सांस्कृतिक रूप से वे बालक एक -दूसरे से पूरी तरह से भिन्न होंगे। 

प्रश्न 4 - कथन - बालक क्या कर रहा है ? और उसका विकास क्यों  नहीं हो रह है ? इस प्रश्न की उत्तर अथवा व्याख्या किस प्रकार दी जा सकती है ?

उत्तर - इस प्रश्न का सही उत्तर देने के लिए - बालक के वंशानुक्रम और वातावरण का अध्ययन करना अनिवार्य होता है।  कियोकि इसके बाद ही इस सम्बन्ध में बालक से सम्बंधित जानकारी प्राप्त हो सकती है। 

प्रश्न 5 - अनुवांशिकता का मूल संवाहक क्या होता है ?

उत्तर - अनुवांशिकता का मूल संवाहक - " जीन्स " होते है।




Popular posts from this blog

अमानक वर्ण

बाल विकास के सिद्धांत हिंदी पीडीएफ

हिंदी प्रश्नोत्तर PART - 2